दलित साहित्य का सच

साहित्य तो साहित्य होता है । साहित्य का न धर्म होता है, न साहित्य की जात…

धार की भोजशाला का इतिहास एवं तथ्‍य

भारतीय इतिहास में परमारवंशीय राजा भोजदेव (संक्षिप्‍त नाम – राजा भोज) का नाम बड़े ही सम्‍मान…

श्रीराम जन्मभूमि आंदोलन में मातृशक्ति द्वारा दिया गया योगदान भी अतुलनीय था.

श्रीराम जन्मभूमि आंदोलन में मातृशक्ति द्वारा दिया गया योगदान भी अतुलनीय था.. कंकर- कंकर शंकर इसका,…

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले में स्थित हैं भगवान श्रीराम और देवी सीता के वन गमन के स्मारक चिन्ह..

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले में स्थित हैं भगवान श्रीराम और देवी सीता के वन गमन के…

वीर जोरावर सिंह एवं वीर फ़तेह सिंह बलिदान दिवस 26 दिसंबर -1705

वीर जोरावर सिंह एवं वीर फ़तेह सिंह बलिदान दिवस26 दिसंबर -1705 20 दिसम्बर, 1705 को गुरु…

चमकौर की लड़ाई” इतिहास कीदुर्लभ लड़ाइयों में से एक

बड़े साहबजादों (अजित सिंह जी एवं जुझार सिंह जी ) के बलिदान दिवस (22 दिसम्बर) पर…

विस्मृत योद्धा: वीर चिमाजी अप्पा

इतिहास कुछ लोगों के साथ बड़ा अन्याय करता है और उन्हें जन मानस में वह स्थान…

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बड़वानी के भीमा नायक

वर्तमान मध्‍यप्रदेश के पश्चिमी हिस्‍से में निमाड़ इलाका है। पहले यहां दो प्रमुख रियासतें थीं –…

“विनाशपर्व” अंग्रेजों का ‘न्यायपूर्ण’ शासन..?

प्रशांत पोळ ज्ञात इतिहास में भारत पर आक्रांताओं के रूप में आने वालों में शक, हूण,…

गोवा मुक्ति आंदोलन और राजाभाऊ महांकाल

पुर्तगाल में एक कहावत आज भी है की “जिसने गोवा देख लिया उसे लिस्बन (पुर्तगाल की…